Top display banner ad

लाचारी


लाचारी

आज इंसान देखो खूंखार बना
अपने बच्चे को देता है चाकू थमा
फिर कहता है इससे बच्चा जेब काटना
इसी से अपने बच्चों का पेट पालना


खुद को तो हो जाती है बीमारी
बच्चों को सिखाते हैं चोरी बैमानी
आज जो लोगो का दिल साफ़ होता
तो उनका भी अपना कोई इंसाफ होता 


ऐसा क्यों करते हैं लोग ,
क्या किसी ने सोचा इनका संयोग
कैसे ये लोग होते हैं लचार ,
जो अपने बच्चों को सिखाते हैं गंदे बिचार


बच्चे तो होते हैं गीली मिटटी सामान
उनके माता  पिता उन्हें जिस मिटटी में देते हैं ढाल
बच्चे ढल जाते हैं उसी गीली मिटटी सामान.