Top display banner ad

जिन्दगी को ऐसे खोया नहीं करते




जिन्दगी को ऐसे खोया नहीं करते 

दिल की गहराईयों में दर्द नहीं छुपा  करते
 
अपने ही अपनों को कभी नहीं भुला करते 
कुछ एहसास  होते हैं जो वक़्त के साथ मर जाते हैं 
लेकिन कुछ अरसे बाद वो जख्म भी भर जाते हैं


कुछ गलत्फैमियां रोने की वजह बन जाती हैं 
तो कुछ तनहाइयाँ जीने की वजह
पर सच तो ये है की न हम तनहाइयों से निकलना चाहते हैं 
 न ही  अपने जीवन को खुलकर जीना चाहते हैं 




और न ही अपनी मुश्किलों से लड़ना चाहते हैं 
दोस्तों हालत बुरे नहीं होते हमारी सोच बुरी होती है 
अगर प्यार से देखोगे तो हर एक चीज में बन्दगी होती है


दोस्तों जीवन तो एक चलती -फिरती  गाड़ी है 
आपकी जिदगी में आये हुए लोग इसकी सवारी हैं 
और दोस्तों जब गाड़ी चलती हैं
 न तो रास्ते में बहुत बार रूकती है 




कभी तो उसका पैट्रोल ख़तम हो जाता है 
तो कभी उसका इंजन ख़राब हो जाता है 
लेकिन दोस्तों जब गाड़ी को कुछ हो जाता है तो 
उसे रास्ते में तो नहीं छोड़ देते 




मैकेनिक बुलवाते हैं और गाड़ी को मरम्मत करवाते हैं 
और उसमे पैट्रोल डलवाते हैं
 और फिर हम उसी गाडी को आगे ले जाते हैं 
और जब गाडी चलने लगती है तो उसमे बैठे लोग 




अपनी- अपनी जगह पर उतरते जाते हैं 
और कुछ नए लोग बैठते जाते हैं तो दोस्तों 
हमारी जिन्दगी भी कुछ इसी तरीके की है 
हमारी जिन्दगी में कई लोग आते हैं 




और चले जाते हैं 
और फिर जिन्दगी हमे कुछ
 नए लोगों से मिलवाती हैं 
और फिर वो लोग बिछड़ जाते हैं




 फिर नए मिलते हैं 
और फिर हमे जिन्दगी वही पर ले आती है
 जन्हा से हम चले थे 



तो दोस्तों मिलना और मिलकर
 बिछड़ना तो जिन्दगी का आर्ट है 
पर उससे निकलना और जिन्दगी को 
खुलकर जीना जिन्दगी का पार्ट है




तो दोस्तों अपनी जिदगी में मुस्कुराईये
 और अपने जिन्दगी के हर लम्हे को 
खुलकर एन्जॉय करिए ,अपने काम के प्रति


सच्ची श्रद्धा रखिये 
कुछ ऐसे ही अपने जिन्दगी के
 हर लम्हे  को खुलकर कर जीना सीखिए